8 Thousand Rupees Sitting in The House Start Chocolate Business, Earn Millions ( घर बैठे 8 हजार रु. में शुरू करें चॉकलेट कारोबार, होगी लाखों की कमाई )

आइए जानते हैं कैसे:-

आपको आत्मनिर्भर, सक्षम, सफल बनाना ही तो हमारा मकसद है. अपने इसी मकसद को पूरा करने के लिए इस अंक से हम लघु उद्योग पर एक सीरीज़ शुरू कर रहे हैं, जिसमें हम आपको कम लागत में शुरू होनेवाले तमाम बिज़नेस की पूरी जानकारी देंगे, ताकि आप चाहें तो अपना बिज़नेस शुरू करके अपने सपने का नई उड़ान दें.

जरूरी है ये हुनर: चॉकलेट कारोबार के लिए सबसे ज्यादा जरूरी उसे क्रिएटिव पैकिंग में सजाना आना चाहिए, क्योंकि चॉकलेट की पैकेजिंग अच्छी नहीं होने पर खरीदार उसमें कोई इंटरेस्ट नहीं दिखाता है त्‍योहारी सीजन शुरू हो चुका है. ऐसे में आपको तमाम लोग यही कहते सुनाई देते हैं कि, कुछ मीठा हो जाए. हम भारतीयों को मीठे से बेइंतहा मोहब्बत है. अगर आपको भी चॉकलेट खाने का शौक है, तो आप अपने इस शौक को कारोबार में भी बदल सकते हैं और घर बैठे मोटी कमाई कर सकते हैं.

शुरुआती इन्वेस्टमेंट:

 शुरुआत में चॉकलेट कारोबार शुरू करने के लिए वैसे तो 5-8 हजार रुपए की पूंजी बहुत होती है. लेकिन आपके पास माइक्रोवेव ओवन नहीं है तो यह इन्वेस्‍टमेंट बढ़कर 15 हजार रुपए तक पहुंच सकता है टेस्ट और नए फ्लेवर है बिजनेस का यूएसपी, इस बिजनेस का यूएसपी (यूनिक सेलिंग पॉइंट) टेस्ट और नया फ्लेवर है. कारोबारी जितने फ्लेवर बाजार में लेकर जाता है, उतना ही उसको बेचने में आसानी होती है

कितनी होगी कमाई:

शुरुआत में चॉकलेट कारोबार से बड़ी इनकम की उम्मीद लगाना बेइमानी है, लेकिन मेहनत की जाए तो 2-3 महीने में ही 30-35 हजार रुपए तक की कमाई हो सकती है. जैसे-जैसे आप अपने कस्टमर को अपनी चॉकलेट का मुरीद बनाते जाते हैं, उतना ही आपका कारोबार फलता-फूलता जाता है. एक-दो साल में कारोबार का सालाना टर्नओवर 12 लाख रुपए तक पहुंच सकता है

मशीन और आवश्यक सामग्री पर ख़र्च

बॉयलरः डबल बॉयलर का एक बतर्न. हर मोल्ड की क़ीमत 550 रुपए.

मोल्डः चॉकलेट बनाने के लिए विविध आकार के मोल्ड. हर मोल्ड की क़ीमत 20 रुपए. इस प्रकार के 10 मोल्ड यानी 200 रुपए(20X10).

रैपर्सः बाज़ार में चॉकलेट के रंगीन रैपर्स उपलब्ध हैं. 300 रैपर्स के एक पैकेट की क़ीमत है 60 रुपए.

ट्विस्टर्सः चॉकलेट रैप करने के बाद उस पर लपेटी जानेवाली तार को ट्विस्ट टाय या मेटल कॉलर्स कहते हैं. क़ीमत 20 रुपए.

रेफ्रिजटरः चॉकलेट सेट करने के लिए रेफ्रिजटर की आवश्यकता होती है. क़ीमत 5499 रुपए से शुरू.

चॉकलेट बिज़नेस के लिए कुल मिलाकर पूंजी 9829 रुपए की ज़रूरत होती है. अधिक उत्पादन के लिए अधिक पूंजी की ज़रूरत होगी. कम समय में अधिक उत्पादन के लिए ऑटोमैटिक या सेमी ऑटोमैटिक मशीन भी बाज़ार में आसानी से उपलब्ध हैं, कीमत 3000 रुपए.

कच्चा माल

* प्रतिदिन चॉकलेट उत्पादन के लिए 10 किलो डार्क चॉकलेट की आवश्यकता होगी. 1 किलो डार्क चॉकलेटः  180. रुपए प्रतिदिन का ख़र्चः 180×10 = 1800 रुपए.

* प्रतिदिन 1000 चॉकलेट के लिए 5 किलो मिल्क चॉकलेट की आवश्यकता होगी. 1 किलो मिल्क चॉकलेटः 240 रुपए प्रतिदिन का ख़र्चः 240×5= 1200 रुपए.

* प्रतिदिन घरेलू गैस का ख़र्चः 15 रुपए.

* गैस और कच्चा माल ख़र्चः 3015 रुपए.

* कंपनी और क्वालिटी पर चॉकलेट की क़ीमत निश्‍चित की जा सकती है.

उपरोक्त सामग्री से बेसिक चॉकलेट उत्पादन कर सकती हैं. आल्मंड चॉकलेट जैसे चॉकलेट उत्पादन के लिए बादाम या अन्य ड्रायफ्रूट्स की ज़रूरत हो सकती है. इसकी क़ीमत बेसिक चॉकलेट के हिसाब से अधिक होगी.

स्थान और कर्मचारी ख़र्च

स्थानः आप जहां रहती हैं, वह घर बड़ा हो, तो घर में ही चॉकलेट बिज़नेस शुरू किया जा सकता है.

* किराए का मकान लेकर भी बिज़नेस किया जा सकता है. अपने बजट के अनुसार किराए की जगह भी ले सकती हैं.

* बिजली का बिल हर शहर के अनुसार अलग-अलग हो सकता है. बिल 500 रुपए बाक़ी ख़र्च तक़रीबन 5000 रुपए.

* हर रोज़ 5 कर्मचारी काम करें, तो 1000 चॉकलेट का उत्पादन किया जा सकता है.

* हर एक कर्मचारी का वेतन हर रोज़ 200 रुपए के हिसाब से महीने का वेतन 200x5x25= 25000.रुपए.

* प्रशासकीय ख़र्च (किराया छोड़कर) 1000 रुपए.

इसे हमेशा याद रखें

* चॉकलेट का अच्छी तरह से ख़्याल रखा जाए, तो उसे लंबे समय तक सुरक्षित रखा जा सकता है.

* चॉकलेट में इस्तेमाल की जानेवाली सामग्री की क्वालिटी पर उसका स्वाद और उसे दीर्घ काल तक सुरक्षित रखना निर्भर करता है.

* खाद्य पदार्थ होने के कारण इसे बनाते समय साफ़-सफ़ाई का ख़ास ध्यान रखें.

* चॉकलेट के मीठेपन की वजह से चींटियां, मक्खियां उसकी तरफ़ आकर्षित हो जाती हैं, इसलिए इसे बनाते समय सफ़ाई का विशेष ध्यान देना आवश्यक है.

उत्पादन की बिक्रीउत्पादन की बिक्री पर ही नफ़ा यानी प्रॉफिट निर्भर रहता है, इसलिए जितनी अधिक बिक्री उतना ही अधिक नफ़ा. यही तो बिज़नेस स्ट्रैटेजी है.* चॉकलेट बेचने के लिए अपनी अलग मार्केटिंग स्ट्रैटेजी हो, जिससे आप अपनी अलग पहचान बनाने में कामयाब हो सकें.* इसे फुटकर व्यापारी के पास बेचने के लिए रख सकती हैं. इसके लिए आपको अपने प्रोडक्ट की उसे पहचान करानी होगी.* मॉल कल्चर ने बड़ी मज़बूती से अपने पैर मेट्रो सिटीज़, जैसे- मुंबई, दिल्ली, बैंगलुरू आदि बड़े शहरों में जमाए हैं, जहां आप अपने चॉकलेट बेचने के लिए रख सकती हैं.* सोशल मीडिया के युग में आप अपने प्रोडक्ट को सोशल मीडिया साइट पर डालकर उसे मशहूर बना सकती हैं.* फेसबुक व व्हॉट्सऐप जैसी सोशल साइट के द्वारा भी अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग कर सकती हैं.हर महीने चॉकलेट की बिक्री से होनेवाला लाभजैसे कि एक होलसेल चॉकलेट की: 150000 रुपएक़ीमत: 6 रुपए (25000 X 6)हर महीने का प्रॉफिट: 41950 रुपए(150000-108050)1 साल का प्रॉफिट (41950 X 12) 503400 रुपए

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *